Hamar Goth

Blog

जागेश्वर यादव: बिरहोर आदिवासियों के उत्थान के लिए समर्पित जीवन

छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के ग्राम पंचायत भितघरा के रहने वाले जागेश्वर यादव एक ऐसे व्यक्ति हैं, जिन्होंने अपने जीवन को बिरहोर आदिवासियों के उत्थान के लिए समर्पित कर दिया…

Read More

गुरु घासीदास: छत्तीसगढ़ के संत, समाज सुधारक और सत्य के नायक

छत्तीसगढ़ की धरती को कई महान हस्तियों ने जन्म दिया है, जिनमें सतनाम पंथ के संस्थापक गुरु घासीदास का नाम उज्ज्वल है। 18 दिसंबर 1756 को गिरौदपुरी गांव में जन्मे…

Read More

तातापानी, छत्तीसगढ़ का एक प्राकृतिक पर्यटन स्थल

तातापानी छत्तीसगढ़ राज्य के बलरामपुर जिले में स्थित एक प्राकृतिक पर्यटन स्थल है। यह स्थान अपने प्राकृतिक रूप से निकलते गरम पानी के लिए प्रसिद्ध है। यहां के कुंडों और…

Read More

बारसूर: इंद्रावती के तट पर हिंदू सभ्यता का खोया हुआ नगर

दंतेवाड़ा जिले के जगदलपुर से लगभग 75 किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम में, इंद्रावती नदी के तट पर बसा बारसूर का गाँव एक समय हिंदू सभ्यता का प्रमुख केंद्र हुआ करता था। माना…

Read More

भगवान गणेश की प्रतिमा: राजबेड़ा में सौ साल पहले पहिए टूटे और स्थापना

छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में स्थित एक अत्यंत प्राचीन धार्मिक स्थल है, जिसे हम राजबेड़ा मंदिर के नाम से जानते हैं। इस मंदिर में भगवान गणेश और मां दुर्गा की…

Read More

छत्तीसगढ़ के जंगल की खुशबू: चरोटा भाजी

भीषण गर्मी की दुपहर में, जब छत्तीसगढ़ के जंगल पसीने से तर-बतर होते हैं, तब जमीन से एक हरी खुशबू उठती है. ये है चरोटा, एक जंगली साग, जो किसी…

Read More

शिवनाथ नदी: छत्तीसगढ़ की जीवनरेखा

शिवनाथ नदी छत्तीसगढ़ की एक प्रमुख नदी है। यह नदी महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले के गोडरी गांव से निकलती है और लगभग 470 किलोमीटर की यात्रा तय करके छत्तीसगढ़ के…

Read More

तीजन बाई: कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प की कहानी

तीजन बाई का जन्म 8 अगस्त, 1956 को छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के गनियारी गांव में हुआ था। वे एक परधान जनजाति से ताल्लुक रखती हैं। तीजन बाई के पिता…

Read More

चेंदरू और टेम्बू: प्रेम, दोस्ती और साहस की कहानी

छत्तीसगढ़ का चेंदरू, जिसे “बस्तर का मोगली” के नाम से भी जाना जाता है, एक आदिवासी लड़का था जिसने एक बाघ शावक को पाला और उसे अपने साथ ही रखा।…

Read More

श्री राम की शिक्षाओं और कहानियों ने छत्तीसगढ़ी संस्कृति को कैसे आकार दिया है?

श्री राम की शिक्षाएं और कहानियां छत्तीसगढ़ी संस्कृति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। वे छत्तीसगढ़ी लोगों के जीवन और मूल्यों को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। नैतिकता और…

Read More