Hamar Goth

छत्तीसगढ़ का अनूठा स्वाद: फ़रा/मुठिया की रेसिपी और उसके फायदे

छत्तीसगढ़ का अनूठा स्वाद: फ़रा/मुठिया की रेसिपी और उसके फायदे

छत्तीसगढ़ का फ़रा/मुठिया एक ऐसा व्यंजन है जो न सिर्फ स्वादिष्ट है बल्कि सेहत से भरपूर भी है। यह चावल के आटे से बना एक स्वादिष्ट व्यंजन है जो पूरे छत्तीसगढ़ में बेहद लोकप्रिय है। फ़रा/मुठिया को बनाने के लिए उबले हुए चावल के आटे को विभिन्न मसालों के साथ मिलाया जाता है और फिर स्टीम में पकाया जाता है। इसे अक्सर चटनी और दही के साथ परोसा जाता है।

फ़रा/मुठिया के स्वाद और सेहत के कई फायदे हैं:

स्वाद:

  • फ़रा/मुठिया का स्वाद हल्का मसालेदार और बहुत ही स्वादिष्ट होता है।
  • चावल के आटे से बना होने के कारण यह नरम और पचाने में आसान होता है।
  • चटनी और दही के साथ परोसने से इसका स्वाद और भी बढ़ जाता है।

सेहत:

  • फ़रा/मुठिया चावल से बना होने के कारण कार्बोहाइड्रेट का एक अच्छा स्रोत है।
  • इसमें मौजूद मसाले और हरी धनिया जैसे तत्व विटामिन और खनिजों से भरपूर होते हैं।
  • स्टीम में पकाने के कारण यह तेल में तले हुए व्यंजनों की तुलना में सेहत के लिए बेहतर होता है।
  • फ़रा/मुठिया फाइबर का भी एक अच्छा स्रोत है, जो पाचन क्रिया को दुरुस्त रखने में मदद करता है।

बनाने में आसान:

फ़रा/मुठिया को बनाना बहुत ही आसान है। इसे बनाने के लिए किसी खास सामग्री की जरूरत नहीं होती है और इसे घर पर ही आसानी से बनाया जा सकता है।

लोकप्रियता:

फ़रा/मुठिया छत्तीसगढ़ में एक बहुत ही लोकप्रिय व्यंजन है। इसे अक्सर घरों में, नाश्‍ते के रूप में, हल्के भोजन के रूप में और यहां तक ​​कि त्योहारों के अवसरों पर भी परोसा जाता है।

फ़रा/मुठिया का स्वाद और सेहत के फायदों के कारण इसे पूरे भारत में और दुनिया भर में जाना जाता है। यह उन लोगों के लिए एक बेहतरीन विकल्प है जो स्वादिष्ट और सेहतमंद भोजन की तलाश में हैं।

विधि:

सामग्री:

  • 1 कप चावल का आटा
  • 1/2 कप उबले हुए चावल
  • 1/4 कप हरी धनिया, कटी हुई
  • 1 हरी मिर्च, बारीक कटी हुई
  • 1/2 इंच अदरक, कटा हुआ
  • 1/4 चम्मच हल्दी पाउडर
  • 1/4 चम्मच धनिया पाउडर
  • 1 चुटकी हींग
  • नमक स्वादानुसार
  • तेल, स्टीम करने के लिए

चटनी के लिए:

  • 1 टमाटर, बारीक कटा हुआ
  • 1 हरी मिर्च, बारीक कटी हुई
  • 1/4 कप धनिया पत्ती, कटी हुई
  • 1/2 इंच अदरक, कटा हुआ
  • 1/4 चम्मच जीरा
  • नमक स्वादानुसार
  • नींबू का रस स्वादानुसार

दही:

  • 1 कप दही
  • 1/4 चम्मच जीरा पाउडर
  • 1/4 चम्मच लाल मिर्च पाउडर
  • नमक स्वादानुसार

बनाने की विधि:

  1. एक बड़े बर्तन में चावल का आटा और उबले हुए चावल डालें।
  2. कटी हुई हरी धनिया, हरी मिर्च, अदरक, हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर, हींग और नमक डालें।
  3. सभी चीजों को अच्छी तरह मिलाएं और थोड़ा-थोड़ा पानी डालकर नरम आटा गूंथ लें। आटे को ज्यादा सख्त नहीं गुंथना चाहिए।
  4. आटे से छोटे-छोटे गोले बना लें और उन्हें लंबा आकार दें।
  5. एक स्टीमर को गर्म करें और तेल से हल्का चिकना कर लें।
  6. स्टीमर में फ़रा/मुठिया रखें और 15-20 मिनट के लिए स्टीम में पकाएं।
  7. इस बीच, चटनी बनाने के लिए सभी सामग्री को एक साथ मिला लें और महीन पेस्ट बना लें।
  8. दही में जीरा पाउडर, लाल मिर्च पाउडर और नमक डालकर अच्छी तरह मिलाएं।
  9. स्टीम हुई फ़रा/मुठिया को गरमागरम चटनी और दही के साथ परोसें।

टिप्स:

  • आप फ़रा/मुठिया के आटे में अपनी पसंद के अनुसार अन्य मसाले भी डाल सकते हैं, जैसे कि गरम मसाला, साबुत धनिया, या जीरा।
  • आप फ़रा/मुठिया को तल कर भी खा सकते हैं।
  • फ़रा/मुठिया को आप गरमागरम या ठंडा परोस सकते हैं।
  • बचा हुआ फ़रा/मुठिया को फ्रिज में 2-3 दिनों तक स्टोर किया जा सकता है।

छत्तीसगढ़ का फ़रा/मुठिया का स्वाद और सेहत के फायदों के कारण इसे पूरे भारत में और दुनिया भर में जाना जाता है। यह उन लोगों के लिए एक बेहतरीन विकल्प है जो स्वादिष्ट और सेहतमंद भोजन की तलाश में हैं। तो आज ही छत्तीसगढ़ के इस स्वादिष्ट व्यंजन को बनाने की कोशिश करें और अपने परिवार और दोस्तों के साथ इसका आनंद लें!

Advertisement - HG

Related Articles